रजिस्टर्ड यूजर        
| न्यू यूजर   रजिस्टर  | चुने सही इंस्टिट्यूट   क्लिक करे  

अब एमबीबीएस पढाई में नहीं होगी जानवरों की चीर-फाड

Updated on: Oct, 14 2013 20:07 PM

नई दिल्ली। भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) ने एक बडा कदम उठाते हुए एमबीबीएस पाठ्यक्रमों में छात्रों को शिक्षा देने के लिए जानवरों का प्रयोग लाने में चीर-फाड करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। 

अधिकारियों के मुताबिक, एमसीआई के संचालक मंडल 23 जुलाई को हुई बैठक में नियमों में जरूरी संशोधन को मंजूरी दे दी गई है। बोर्ड ने इस्टेब्लिसमेंट ऑफ मेडिकल कालेज रेगुलेशन 1999 में (एनिमल हाउस) शीर्षक मे जो संशोधन किया है उसके मुताबिक, अंतस्नातक पाठ्यक्रम में शरीर विज्ञान एवं औषधि विज्ञान की पढाई के लिए जरूरी ज्ञान एवं कौशल कंप्यूटर माड्यूल्स के जरिए दिए जाने चाहिए।

 सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी के सुझाव पर विस्तृत चर्चा के बाद बोर्ड ने यह फैसला लिया। सरकार की ओर से अधिसूचना जारी किए जाने के बाद यह फैसला अमल में आ जाएगा।

नई दिल्ली। भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) ने एक बडा कदम उठाते हुए एमबीबीएस पाठ्यक्रमों में छात्रों को शिक्षा देने के लिए जानवरों का प्रयोग लाने में चीर-फाड करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। 

अधिकारियों के मुताबिक, एमसीआई के संचालक मंडल 23 जुलाई को हुई बैठक में नियमों में जरूरी संशोधन को मंजूरी दे दी गई है। बोर्ड ने इस्टेब्लिसमेंट ऑफ मेडिकल कालेज रेगुलेशन 1999 में (एनिमल हाउस) शीर्षक मे जो संशोधन किया है उसके मुताबिक, अंतस्नातक पाठ्यक्रम में शरीर विज्ञान एवं औषधि विज्ञान की पढाई के लिए जरूरी ज्ञान एवं कौशल कंप्यूटर माड्यूल्स के जरिए दिए जाने चाहिए।

 सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी के सुझाव पर विस्तृत चर्चा के बाद बोर्ड ने यह फैसला लिया। सरकार की ओर से अधिसूचना जारी किए जाने के बाद यह फैसला अमल में आ जाएगा।

0View Comments
अपने विचार भेजने के लिए पहली बार हो, या इस मुद्दे पर हमारे संदेश बोर्ड पर रहते बहस नहीं

प्रतिक्रिया दें



यहाँ अपनी टिप्पणी पोस्ट करें